Anshu took the first step towards his dreamsBack

जिन्दगी काँटो का सफर है,हौसला उसकी पहचान है,

रास्ते पर तो सभी चलते है,जो रास्ता बनाये वही इंसान है,

अंशु को मिला सेवा परमो धर्म ''ट्रस्ट'' से अपनी जिन्दगी में आगे बढ़ने का साहस

राजस्थान के करौली जिले के निवासी अंशु कुमार शर्मा  बारहवीं के बाद आगे की पढ़ाई करनी थी  लेकिन परिवार की कुल मासिक आय तीन हजार रूपये होने से वे अपने सपने पुरे होने में बाधा महसूस कर रहे थे घर की पारिवारिक स्थति मजबूत ना होने के कारण वह आगे की पढ़ाई पूरी करने में असमर्थ थे टी.वि. के माध्यम से सेवा परमो धर्म के बारे में पता चला अंशु ने संस्थान में सम्पर्क किया और अपने सपनों के बारे में बताया उसकी ये ललक देख संस्थान ने भी अंशु की  जानकारी जुटाई और ये पता किया की वो क्या करना  चाहता है  अंशु चित्तोड़गढ़ ओम शिव संस्थान कॉलेज से  बी एस सी नर्सिंग में प्रथम वर्ष में प्रवेश लेना चाहता है फिर सेवा परमो धर्म ट्रस्ट ने अंशु की काबिलियत को देखते हुए उसको 45 हजार रूपये की प्रथम वर्ष की फीस देकर उसको अपने सपने पुरे करने में सहायता प्रदान की। जब इस सन्दर्भ में अंशु से बात की तो उसने कहा कॉलेज में प्रवेश पाकर वो खुश है