Abhishek got a new lifeBack

अभिषेक को मिला एक नया सुन्दर जीवन

उत्तरप्रदेश के वाराणसी शहर के रहने वाले संतोष कुमार मेहनत - मजदूरी करके महीने के 4 - 5 हजार रूपये कमाकर अपने परिवार का भरण - पोषण कर रहे थे की एक दिन उनके बेटे अभिषेक की तबीयत बहुत बिगड़ गई तो उन्होंने अपने बेटे का एक प्राइवेट हॉस्पिटल में चेक - अप करवाया जहा डॉक्टर ने दिल में छेद बताया।  डॉक्टर की बात सुनकर संतोष कुमार बहुत घबरा गए जब उन्होंने डॉक्टर से इलाज के लिए पूछा तो डॉक्टर ने बताया की ऑपरेशन होगा जिसमे करीब दो से ढाई लाख रूपये तक खर्चा आएगा।  संतोष के पास इतने पैसे नहीं थे की वो अपने जवान बेटे का ऑपरेशन करवा सके।  लेकिन संतोष अपने बेटे को खोना नहीं चाहते थे। संतोष अपने बेटे को बचाने के लिए जुट गये और उन्होने अपने बेटे के ऑपरेशन के लिए हर जगह छान मारी बहुत जगह जाने के बाद संतोष को सेवा परमो धर्म ट्रस्ट आयोजित हार्ट कैंप के बारे में जानकारी मिली तो वो तरुंत अपनी बेटे को लेकर उदयपुर आये और अपने बेटे को बताया। संस्थान द्वारा अभिषेक को जयपुर भेजा गया जहा कुछ जाँच - पड़ताल के बाद अभिषेक का ऑपरेशन किया गया।  आज अभिषेक बिलकुल स्वस्थ है। अभिषेक के ऑपरेशन का सारा खर्चा सेवा परमो धर्म ट्रस्ट के माध्यम से दादा कान हसोमल लखानी द्वारा वहां किया गया।